अरविंद केजरीवाल जीवनी – Biography of Arvind Kejriwal in Hindi Jivani

Advertisement

अरविंद केजरीवाल का जीवन परिचय (Biography of Arvind Kejriwal in Hindi)

वर्तमान समय में दिल्ली की मुख्यमंत्री सीट पर विराजमान अरविंद केजरीवाल जी एक बहुत बड़े जाने-माने राजनीतिज्ञ हैं। आज हम आपको आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल जी के बारे में विस्तार से बताएंगे। राजनीति में आने से पहले एक सामाजिक कार्यकर्ता रहे जिन्होंने सरकारी कामकाज में अधिक पारदर्शिता लाने के लिए बेहद कड़ा संघर्ष किया। उन्होंने भारत की जनता के लिए बिना एक राजनीति पद के बहुत काम किए। उन्होंने देश की गरीब और लाचार जनता को भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए सशक्त बनाया। देश में मौजूदा सरकार को जनता के हितों के लिए जवाबदेह बनाने में बहुत सहयोग दिया। उनके इन कड़े संघर्षों के लिए साल 2006 में उन्हें मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया।

Advertisement

 

जीवन परिचय
वास्तविक नाम अरविंद केजरीवाल
उपनाम ज्ञात नहीं
व्यवसाय भारतीय राजनेता
पार्टी/दल आम आदमी पार्टी
आम आदमी पार्टी
राजनीतिक यात्रा • नवंबर 2012 में, उन्होंने औपचारिक रूप से आम आदमी पार्टी का गठन किया।
• 2013 में, उन्होंने शीला दीक्षित के खिलाफ दिल्ली विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया।
• 2013 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में, उन्होंने 25,864 मतों के अंतर से शीला दीक्षित को पराजित किया।
• 28 दिसंबर 2013 को, वह दिल्ली के मुख्यमंत्री बने।
• 25 मार्च 2014 को, उन्होंने वाराणसी के निर्वाचन क्षेत्र से नरेंद्र मोदी के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ने की घोषणा की,परन्तु वह 370000 मतों के अंतर से पराजित हुए।
• 14 फरवरी 2015 को, वह दूसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बने और 70 सीटों में से 67 पर एक विशाल बहुमत हासिल कर अपनी सरकार का गठन किया।
शारीरिक संरचना
लम्बाई से० मी०- 165
मी०- 1.65
फीट इन्च- 5’ 5”
वजन/भार (लगभग) 64 कि० ग्रा०
आँखों का रंग काला
बालों का रंग काला
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 16 अगस्त 1968
आयु (2017 के अनुसार) 49 वर्ष
जन्मस्थान सिवानी, जिला भिवानी, हरियाणा, भारत
राशि सिंह
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर सिवानी, जिला भिवानी, हरियाणा, भारत
स्कूल/विद्यालय कैंपस स्कूल, हिसार, हरियाणा, भारत
Christian Missionary Holy Child विद्यालय, सोनीपत, हरियाणा, भारत
महाविद्यालय/विश्वविद्यालय भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर, पश्चिम बंगाल में
शैक्षिक योग्यता आईआईटी खड़गपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक
राजनीतिक आरम्भ नवंबर 2012 में, जब उन्होंने औपचारिक रूप से आम आदमी पार्टी की स्थापना की
परिवार पिता – गोबिंद राम केजरीवाल (विद्युत अभियंता)
माता– गीता देवी
अरविंद केजरीवाल अपनी माता के साथ
भाई– मनोज (युवा) – आईबीएम, पुणे में सॉफ्टवेयर इंजीनियर
बहन – रंजना (छोटी बहन) – भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (बीएचईएल), हरिद्वार में चिकित्सक
 अरविन्द केजरीवाल अपनी बहन के साथ
धर्म हिन्दू
शौक/अभिरुचि पढ़ना, योग करना और विपासना करना
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति विवाहीत
पत्नी सुनीता केजरीवाल (आईआरएस अधिकारी) – 1995 में विवाहित
 अरविन्द केजरीवाल अपनी पत्नी और बच्चों के साथ
बच्चे बेटा : पुलकित
बेटी : हर्षिता
धन संबंधित विवरण
संपत्ति (लगभग) 71 लाख लगभग

 

आम आदमी पार्टी का गठन :

2 अक्तूबर 2012 को महात्मा गाँधी और लालबहादुर शास्त्री के चित्रों से सजी पृष्ठभूमि वाले मंच से अरविंद केजरीवाल ने अपने राजनीतिक सफर की औपचारिक शुरुआत कर दी। उन्होंने बाकायदा गांधी टोपी, जो अब “अण्णा टोपी” भी कहलाने लगी है, पहनी थी। वो शायद वही नारा लिखना पसंद करते जो पूरे “अन्ना आंदोलन” के दौरान टोपियों पर दिखाई देता रहा, “मैं अन्ना हजारे हूं।”

लेकिन उन्हें अन्ना के नाम और तस्वीर के इस्तेमाल की इजाज़त नहीं है। इसलिए उन्होंने लिखवाया, “मैं आम आदमी हूं।” उन्होंने 2 अक्टूबर 2012 को ही अपने भावी राजनीतिक दल का दृष्टिकोण पत्र भी जारी किया। आम आदमी पार्टी के गठन की आधिकारिक घोषणा अरविंद केजरीवाल एवं लोकपाल आंदोलन के बहुत से सहयोगियों द्वारा 26 नवम्बर 2012, भारतीय संविधान अधिनियम की 63 वीं वर्षगांठ के अवसर पर दिल्ली स्थित स्थानीय जंतर मंतर पर की गई।

दिल्ली के मुख्यमन्त्री :

२८ दिसम्बर २०१३ से १४ फ़रवरी २०१४ तक ४९ दिन दिल्ली के मुख्यमन्त्री के रूप में कार्य करते हुए अरविन्द लगातार सुर्खियों में बने रहे। नवभारत टाइम्स ने लिखा – “केजरी सरकार: ऐक्शन, ड्रामा, इमोशन, सस्पेंस का कंप्लीट पैकेज।”

मुख्यमन्त्री बनते ही पहले तो उन्होंने सिक्योरिटी वापस लौटायी। फिर बिजली की दरों में 50% की कटौती की घोषणा कर दी। दिल्ली पुलिस व केन्द्रीय गृह मन्त्रालय के खिलाफ उन्होंने धरना भी दिया। इसके बाद रिटेल सैक्टर में एफडीआई को खारिज किया और सबसे बाद जाते-जाते फरवरी २०१४ में उन्होंने भूतपूर्व व वर्तमान केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री मुरली देवड़ा व वीरप्पा मोईली तथा भारत के सबे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी व उनकी कम्पनी रिलायंस के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराने के आदेश जारी कर दिये।

जनलोकपाल बिल भी एक प्रमुख मुद्दा रहा जिस पर उनका दिल्ली के लेफ्टिनेण्ट गवर्नर, विपक्षी दल भाजपा और यहाँ तक कि समर्थक दल काँग्रेस से भी गतिरोध बना रहा। जनलोकपाल मुद्दे पर हुए आंदोलन से ही अरविन्द पहली बार देश में जाने गये थे। वे इसे कानूनी रूप देने के लिये प्रतिबद्ध थे। प

रन्तु विपक्षी दल कोंग्रेस एवं भाजपा बिल ने बिल को असंवैधानिक बताकर विधानसभा में बिल पेश करने का लगातार विरोध किया। विरोध के चलते १४ फ़रवरी को दिल्ली विधान सभा में यह बिल रखा ही न जा सका। विधान सभा में कांग्रेस और बीजेपी के जनलोकपाल बिल के विरोध में एक हो जाने पर और भ्रष्ट नेताओ पर लगाम कसने वाले इस जनलोकपाल बिल के गिर जाने के बाद उन्होंने नैतिक आधार पर मुख्यमन्त्री पद से इस्तीफा दे दिया।

सम्मान और पुरस्कार :

2004: अशोक फैलो, सिविक अंगेजमेंट
2005: ‘सत्येन्द्र दुबे मेमोरियल अवार्ड’, आईआईटी कानपुर, सरकार पारदर्शिता में लाने के लिए उनके अभियान हेतु
2006: उत्कृष्ट नेतृत्व के लिए रेमन मैग्सेसे पुरस्कार
2006: लोक सेवा में सीएनएन आईबीएन, ‘इन्डियन ऑफ़ द इयर’
2009: विशिष्ट पूर्व छात्र पुरस्कार, उत्कृष्ट नेतृत्व के लिए आईआईटी खड़गपुर।

पुस्तकें :

सूचना का अधिकार: व्यवहारिक मार्गदर्शिका- सह लेखक – विष्णु राजगडिया, राजकमल प्रकाशन, नई दिल्ली द्वारा वर्ष 2007 में प्रकाशित।

 

 

 

arvind kejriwal awards

arvind kejriwal wife

arvind kejriwal family

arvind kejriwal daughter

arvind kejriwal son

arvind kejriwal mobile number

sunita kejriwal

arvind kejriwal biography in hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published.