जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने 2 संदिग्ध आतंकियों को मार गिराया, LoC से घुसपैठ की कर रहे थे कोशिश, जानिए पूरा मामला

जम्मू-कश्मीर में कुपवाड़ा के पास सुरक्षाबलों ने 2 संदिग्ध आतंकियों को मार गिराया। दोनों लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) से घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दोनों के शव तंगधार सेक्टर में बाड़ के दूसरी ओर तरफ पड़े देखे गए। इनके पास से तलाशी के दौरान 2 पिस्तौल, गोला-बारूद बरामद किए गए। दोनों की पहचान का खुलासा नहीं किया गया है। मामले में जांच जारी है। अभी भी एनकाउंटर जारी है। पिछले महीने बारामुला जिले के उरी में LoC से घुसपैठ की कोशिश में एक आतंकवादी मार गिराया गया था। इस दौरान दूसरी तरफ से भी गोलीबारी हुई थी।जिसके बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस ने छह आतंकवादियों के स्कैच जारी किए। इन आतंकियों ने उधमपुर जिले के बसंतगढ़ इलाके में पाकिस्तान से घुसपैठ की। इन्होंने जंगल में भागने से पहले गांव के विलेज गार्ड की हत्या कर दी थी। ये स्कैच विभिन्न एजेंसियों, जनता और संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ के बाद तैयार किए गए हैं। इस केस में पुलिस एक ओवरग्राउंड वर्कर को भी गिरफ्तारी कर चुकी है। इसी शख्स ने सीमा पार से घुसपैठ के बाद आतंकवादियों को इलाके तक पहुंचने में मदद की थी।

आपको बता दें, उधमपुर जिले के बसंतगढ़ में पनारा गांव में 28 अप्रैल को गोलीबारी हुई। जिसमें ग्राम रक्षा गार्ड (VDG) का एक सदस्य मोहम्मद शरीफ घायल हो गया था। VDG के सदस्य जंगल में गश्त कर रहे थे। तभी कुछ संदिग्ध लोगों से मुठभेड़ हुई। आधे घंटे तक चली गोलीबारी के बाद आतंकवादी जंगल में भाग गए। इस गोलीबारी में खानेद निवासी वीडीजी सदस्य गंभीर रूप से घायल हो गया और बाद में उनकी मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक 28 अप्रैल को एक टीम वीडीजी को साथ लेकर चोचरू गाला हाइट्स की तरफ गई थी। जहां छिपे हुए आतंकवादियों से उनकी मुठभेड़ हो गई। ये आतंकवादी 2 अलग-अलग गुट में कठुआ से बसंतगढ़ की ओर तरफ गए थे। VDG की टीम का 5 आतंकियों से सामना हुआ। जबकि दूसरे गुट का पता नहीं चला। पुलिस ने बताया था कि दूसरे गुट में 4 आतंकवादी हो सकते हैं। इन आतंकियों की आखिरी लोकेशन कठुआ की सीमा से लगे माचेडी टॉप इलाके में मिली थी। ये आतंकी घने जंगल का फायदा उठाकर चेनाब घाटी के रास्ते कश्मीर में जा रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *