वैज्ञानिकों ने ढूंढ निकाला धरती के आकार का नया ग्रह, यहां न दिन खत्म होता है न रात

खगोलविदों ने आकार में हमारी पृथ्वी के समान और पृथ्वी से केवल 55 प्रकाश वर्ष दूर एक ग्रह की खोज की है। यह ग्रह एक लाल बौने तारे की परिक्रमा करता है। नेचर एस्ट्रोनॉमी में प्रकाशित खोज में बताया गया है कि खगोलविदों की एक अंतरराष्ट्रीय टीम ने ग्रह की खोज की है। आपको बता दें कि इस तरह के तारे की परिक्रमा करने वाला यह दूसरा ग्रह है।

पृथ्वी पर एक वर्ष एक दिन से भी छोटा है

ग्रह को एक परिक्रमा पूरी करने में 17 घंटे लगते हैं। इसका मतलब यह है कि इस ग्रह पर एक वर्ष पृथ्वी पर एक दिन से छोटा है। लेकिन, यह ग्रह जिस तारे की परिक्रमा करता है उसका तापमान हमारे सूर्य से आधा है। इसके अलावा यह 10 गुना छोटा और 100 गुना कम चमकीला है। खगोलशास्त्रियों का कहना है कि इस ग्रह पर दिन और रात कभी खत्म नहीं होते। आपको बता दें कि वैज्ञानिकों ने पृथ्वी के आकार के इस अनोखे ग्रह का नाम SPECULOOS-3 b रखा है।

दिन हो या रात कभी ख़त्म नहीं होते!

शोध का नेतृत्व करने वाले प्रोफेसर माइकल गिलन का कहना है कि हमारा मानना ​​है कि ग्रह समकालिक रूप से घूम रहा है। यही कारण है कि इसका एक किनारा सदैव सूर्य की ओर रहता है। इस कारण इसके एक तरफ हमेशा दिन रहता है और दूसरी तरफ हमेशा अंधेरा रहता है। प्रोफेसर माइकल बेल्जियम में लीज विश्वविद्यालय में एक खगोलशास्त्री हैं। अध्ययन में बर्मिंघम, कैम्ब्रिज, बर्न और एमआईटी विश्वविद्यालयों के खगोलशास्त्री भी शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *