बिहार में अमित शाह की मौजूदगी में बना नया रिकॉर्ड, फेहराये 77 हजार 700 तिरंगे

Advertisement
Advertisement

मुंबई, 23 अप्रैल, -। बिहार ने अमित शाह की मौजूदगी में 77 हजार 700 तिरंगे फहराकर पाकिस्तान का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। स्वतंत्रता संग्राम के महानायक बाबू वीर कुंवर सिंह के विजयोत्सव पर भोजपुर के जगदीशपुर में यह रिकॉर्ड बनाया गया। इस कार्यक्रम में 5 मिनट तक झंडा फहराया गया। आपको बता से इससे पहले एक साथ 57,500 राष्ट्रीय ध्वज फहराने का वर्ल्ड रिकॉर्ड पाकिस्तान के नाम दर्ज था। भोजपुर में कार्यक्रम की रिकॉर्डिंग ड्रोन कैमरे से कराई जा रही है। इसके अलावा जिन-जिन लोगों के हाथ में राष्ट्रीय ध्वज है, उनका फिंगर प्रिंट भी लिया गया। जिससे नए रिकॉर्ड को पुख्ता किया जा सके। विजयोत्सव में 2 लाख से ज्यादा लोग हिस्सा लेने पहुंचे। इसे लेकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम जगदीशपुर पहुंची है। सूचना के मुताबिक गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के लगभग 1600 अधिकारी और कर्मचारी इस पूरे कार्यक्रम में हैं जो इस रिकॉर्ड को दर्ज कर रहे हैं।इससे पहले पटना एयरपोर्ट पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का CM नीतीश कुमार ने स्वागत किया। उनके साथ BJP प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल भी मौजूद रहे। BJP के कई और नेताओं ने भी उनका स्वागत किया। एयरपोर्ट पर अमित शाह और नीतीश कुमार के बीच बैठक हुई। 10 मिनट की मीटिंग के बाद शाह आरा के जगदीशपुर के लिए रवाना हुए।

अमित शाह ने क्या कहा –

अमित शाह ने अपने संबोधन की शुरुआत भारत माता की जय के जयघोष से की। फिर पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ की। उन्होंने कहा पीएम मोदी 123 करोड़ लोगों का मुफ्त टीकाकरण नहीं करते तो न जाने कितने लोग कोरोना महामारी से मारे जाते। अमीर तो वैक्सीन लगवा लेते लेकिन दलित, आदिवासी, शोषित कहां लगवाते। लेकिन मोदी जी ने दो टीका मुफ्त लगवाकर सुदर्शन का सुरक्षा चक्र बनवाने का काम किया है।उन्होंने जगदीशपुर की धरती को युगपुरुषों की धरती बताते हुए कहा हेलिकॉप्टर से मैंने देखा कि यहां से पांच पांच किमी तक लोगों के हाथ में तिरंगा है। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम स्थल से ज्यादा लोग रोड पर वंदे मातरम और भारत माता की जय बोल रहे हैं। वीर कुंवर सिंह को श्रद्धाजंलि देते हुए उन्होंने कहा कि इतिहास ने बाबू कुंवर सिंह के साथ अन्याय किया। उनकी वीरता के अनुरूप उन्हें जगह नहीं दी। आज बिहार की जनता ने एक बार फिर से उनका नाम अमर करने का काम किया। शाह ने आगे कहा की 58 साल से अनेक प्रकार के रैलियों में गया हूं। आरा में राष्ट्रभक्ति का ये उफान देखकर नि:शब्द हूं। ऐसा कार्यक्रम जीवन में कभी नहीं देखा। यहीं से प्रभु श्रीराम को मिथिला जाने की प्रेरणा मिली। आगे शाह बोले कि आज आपका भारत सर्वोच्च स्थान पर बैठा है। आजादी के पहले स्वतंत्रता संग्राम 1857 को विफल बता कर अंग्रोजों ने बदनाम करने का काम किया। जबकि वीर सावरकर ने पहला संग्राम कर सम्मानित करने का काम किया। अमित शाह ने कुंवर सिंह की स्मृति में जगदीशपुर में उनका भव्य स्मारक बनाए जाने की घोषणा की। बता दें कि सांसद आरके सिंह ने ये मांग की जिस पर केंद्रीय गृह मंत्री ने सहमति दी। 1857 के सेनानियों की स्मृति में स्मारक बनाया जाएगा।

Jasus is a Masters in Business Administration by education. After completing her post-graduation, Jasus jumped the journalism bandwagon as a freelance journalist. Soon after that he landed a job of reporter and has been climbing the news industry ladder ever since to reach the post of editor at Our JASUS 007 News.

Leave a Comment

Your email address will not be published.